कोतवाल बनी बालू खनन माफियाओं की सरपरस्त देखें ख़ास रिपोर्ट-जितेंद्र प्रसाद के साथ।

2017-07-02 22:29:09.0

कोतवाल बनी बालू खनन माफियाओं की सरपरस्त देखें ख़ास रिपोर्ट-जितेंद्र प्रसाद के साथ।

वुमेन टाइम्स न्यूज़ सीतापुर रंजना सचान वैसे तो अपने तेज तर्रार रवैये को लेकर पहचानी जाती है लेकिन विवादों में भी रही है। अभी दो महीने पहले ही महोली कोतवाली में बतौर कोतवाल रंजना सचान का आडियो वायरल हुआ था … जाने क्या था मामला-"सोशल मीडिया में ऑडियो वायरल हुआ जिसमें सीतापुर जनपद के महोली कोतवाली प्रभारी रंजना सचान अपने थाने के दारोगा को फटकार लगा रही है आपको बतादे की दारोगा की इतनी गलती है की उसने अवैध बालू खनन की ट्राली को रोक कर ट्राली को थाने में पंहुचा दिया था।ये बात जब महिला कोतवाल को पता चला तो महिला कोतवाल का पारा चढ़ गया और तुरन्त दारोगा को फोन मिलाया और दारोगा को हड़काना चालू कर दिया व ायरल ऑडियो में महिला कोतवाल ने दारोगा से कहा जो बालू की ट्राली पकड़ी है उसे तुरंत छोड़ दो तुम्हारी हिम्मत कैसे हो गयी बालू की ट्राली को पकड़ने की तुम्हारी डियूटी रोड परट्राली रोकने के लिए नहीं लगायी थी अगर तत्काल ट्राली नही छोड़ी तो तुम्हे पुलिस कप्तान के सामनेपेश कर दूंगी।आपको बता दें की वायरल मैसेज 25 मार्च का बताया जा रहा है जिसके 3 दिन बाद पुलिस कप्तान के द्वारा दारोगा का ट्रांसफर थानगांव कर दिया गया थाजिससे साफ हो जाता है कि महिला कोतवाल ने कप्तान के द्वारा मामले में कार्यवाही कराते हुए दारोगा का ट्रांसफर भी करा दिया था।वायरल ऑडियो को सुनने के बाद महोली कोतवाल के साथ जनपद के जिम्मेदार पुलिस अधीक्षक पर भी सवाल खड़ा हो गया कि मामले में अपने फर्ज को निष्ठां से निभाने वाले और अवैध बालू की ट्राली को बंद करने वाले दारोगा का ट्रांसफर आखिर क्यों किया गया अगर इस तरह पुलिस अवैध खनन पर कार्यवाही करेगी तो योगी जी का प्रदेश में अवैध खनन रोकने का प्रयास कभी भी पूरा हो सकता है।"महमूदाबाद कोतवाली उनके लिए चुनौती से कम नहीं है। बीते वर्ष एक व्यापारी से दिनदहाड़े लूट के खुलासे का अभी तक कोई अता पता नहीं है……. इसके साथ ही परमहंस मंदिर बन्नी में चोरो का आतंक….सहित कई बड़ी घटनाओं का खुलासा किया जाना है…. अब देखना ये है कि महमूदाबाद के लिए यह लेडी कोतवाल क्या साबित होती है??

  Similar Posts

Share it
Top