पाँच दिन में शादी, पाँच महीने में तलाक न जाने कितनी जिंदगियां की बर्बाद:सशक्त महिला संगठन

2016-11-10 06:32:53.0

फिर बनी मासूम हैवानियत का शिकार
हैवानियत का शिकार हाथ की मेहँदी छूटने से पहले ही तलाक।
डिस्टिक सीतापुर की रहने वाली मासूम बच्ची उम्र लगभग 17 से 18 साल की सादी आमीन खान नामक व्यक्ति से हुवी जोकि पहले से शादी सुदा व पहली पत्नी को तलाक दे चुका था लड़की को कुछ खबर ही न थी शादी के सातवे दिन से ही लड़की को मारने पीटने व घर में बंद करके रखता था इसी तरह 4 महीने बीत गए जब मामला (सशक्त महिला संगठन) के संज्ञान में आया तो महिला संगठन की टीम ने वार्ता की जिसने शादी कराइ थी उसकी बाते कुछ घुमाव वाली थी समय को न गवाते हुवे तत्काल प्रभाव स-महिला संगठन- -की टीम सीतापुर के लिए रवाना हुवी सर्वेक्चड़ के
दौरान चौका देंने वाली बात सामने आई -बब्बू खान- नमक व्यक्ति जो की मासूम लड़कियों की शादी दुहाजू लड़को के साथ जल्दबाजी से करा देता था और फिर 30, 40 हज़ार रुपये लेकर 4, 5 महीने में ही तलाक करवा देता था ।
मित्रो हमारे समाज में बब्बू जैसे लोग है इनके रहते हमारी बहन बेटिया सेव् है ?
इस केस में महिला टीम तन मन धन से लगी हुवी है आमीन खान की दूसरी पत्नी खुशबु खातून को इंसाफ दिलाने के लिए…
प्रदेश अध्यक्छ आर्या खान
ने पीड़ित महिलाओं के लिये जारी की हेल्प लाइन +91-7348389999

  Similar Posts

Share it
Top