बिहार: नशे के बड़े कारोबारी पुलिस की गिरफ्त में

2017-06-15 01:44:45.0

बिहार: नशे के बड़े कारोबारी पुलिस की गिरफ्त में

बक्सर- सीमावर्ती क्षेत्र में उतर प्रदेश होने के कारण अवैध शराब विक्रेताओं का जाल जिले के चारो तरफ फैला है नशे के कारोबार के विरुद्ध पुलिस लगातार काम भी कर रही है जिसके परिणाम स्वरूप आज बक्सर पुलिस को भारी सफलता भी मिली है | गौरतलब हो कि मंगलवार शाम वाहन चेकिंग के दौरान नगर थाना की पुलिस द्वारा पिकअप वैन पर लदे भारी संख्या में शराब को जप्त किया गया|
जिसमे 172 पेटी शराब बरामद की गयी है जो हरियाणा और अरुणाचल प्रदेश निर्मित है। पुलिस को कामयाबी तब मिली जब पुलिस देर रात यूपी और बक्सर के सीमा पर बनी वीर कुंवर सिंह सेतु पर शराब बंदी को ले वाहन जाँच अभियान चला रही थी। वाहन जाँच अभियान के दौरान पुलिस ने पिकअप वैन को रोका और जब उसकी तलाशी ली गई तो भारी मात्रा में शराब लदे थे। शराब लदी पिकअप वाहन को पुलिस द्वारा जप्त करते हुये वाहन के चालक और एक तस्कर गिरफ्तार कर लिया गया ।
पूछताछ में तस्कर व चालक दोनो ने ही अपना नाम- मो. असगर ही बताया | दोनो नगर औद्योगिक थानान्तर्गत बड़की सारीमपुर के रहने वाले हैं | सूत्रों कि माने तो शराब कारोबारी ने अपने बयान में बताया है कि वह ट्रांसपोर्टर का का काम करता है तथा उसका भाई मो. आरजू ही यह सब काम देखता है | उसी के कहने पर वह नरही थाना के कारो गाँव से मवेशी लादकर चौसा पहुँचाने के काम से गया था | वहीँ से यह खेप लादकर ला रहा था | उसने बताया है कि उसे यह नहीं मालूम था कि गाड़ी में क्या लदा है क्योंकि जब वह वहाँ गया तो उसे खाना खाने के नाम पर वहाँ से हटाते हुये गाड़ी में माल लादकर डाला का पटरा वगैरह लगा दिया गया था | उससे बताया गया था कि उसे यह माल चौसा पहुँचाना है |
वही चर्चा यह भी हैं कि सारीमपुर निवासी मो. आरजू बक्सर में नशे के कारोबार का टॉप खिलाड़ी है तथा उसके द्वारा ट्रांसपोर्ट की आड़ में सिर्फ शराब ही नहीं बल्कि अन्य मादक पदार्थों की तस्करी भी की जाती हैं | इतना ही नहीं इसके पास मौजूद कई गाड़ियाँ भी चोरी की हैं जिनको वह धड़ल्ले से गलत नंबर प्लेट लगा कर चलाता है |
इस मामले में बक्सर के आरक्षी अधीक्षक ने भी सूत्रों की बातों की पुष्टि करते हुये बताये हैं कि पूर्व में भी कई मामलों में अपराधी रह चुका मो.आरजू इस धंधे का मास्टरमाइंड है | तथा उसी के इशारे पर नशे का यह धंधा चल रहा है | साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि यह कैसे संभव है कि वाहन में मवेशी लदे हैं या शराब उसे यह पता नहीं चला? उन्होंने कहा कि नशे के कारोबार में जुड़े कई अपराधियों को चिन्हित किया गया है तथा उनको गिरफ्तार कर नशे के इस कारोबार पर रोक लगाने की भरपूर कोशिश हो रही है | अब देखना है कि कौन कौन लोग पुलिस के चपेट मे आते है वैसे तो जब से शराबबंदी हुई है तमाम अपराधी किस्म के लोग इस अवैध कारोबार को करने लगे हैं जिस पर नकेल कसने को ले जिले की पुलिस लगातार तत्पर भी है

  Similar Posts

Share it
Top