उत्तराखंड: किसान का बेटा निकला वर्ड रिकार्ड बनाने साईकिल से करेंगे देश की यात्रा

2017-06-21 00:59:08.0

उत्तराखंड: किसान का बेटा निकला वर्ड रिकार्ड बनाने साईकिल से करेंगे देश की यात्रा

बागेश्वर
18 साल की उम्र में जब ज्यादातर लोग जिंदगी का मतलब नहीं समझ पाते हैं तब बागेश्वर के गरूर शहर के प्रदीप राणा अपने सामने लक्ष्य रख चुके हैं विश्व रेकॉर्ड बनाने का। देहरादून के ग्राफिक एरा में बीएससी(आईटी) के छात्र प्रदीप साइकल पर पूरा देश घूमकर 20,000 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे। अगर वह ऐसा कर लेते हैं तो वह महाराष्ट्र के संतोष होली का रेकॉर्ड तोड़ देंगे।

घूम चुका है आधा उत्तर भारत
23 मई को अपने सफर की शुरुआत करने वाले प्रदीप 3,000 किलोमीटर का रास्ता तय कर उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से होते हुए असम के गोमुख पहुंच चुके हैं। अब वह नगालैंड, मेघालय और ओडिशा से होते हुए दक्षिण में कन्याकुमारी की ओर निकलेंगे। उसके बाद वह गुजरात, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और जम्मू कश्मीर जाएेंगे। वह बताते हैं, 'मेरा लक्ष्य गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराना है। इसमें 5 से 6 महीने लग जाएंगे। मैं हर दिन लगभग 140 किलोमीटर का सफर मैदान पर और 90 किलोमीटर पहाड़ी इलाकों में तय कर रहा हूं। '

पहले साइकल पर किया था नेपाल का सफर


राणा बताते हैं कि वह अबतक अलग-अलग तरह के लोगों से मिल चुका है और यह बेहद अद्भुत अनुभव रहा है। वह ढाबों से लेकर अजनबियों के घर तक में रहा है। वह अपने साथ एक टेन्ट लेकर भी रखता है। पिछले साल राणा काठमांडु तक साइकल से गये थे। वह कहते हैं कि उस सफर ने उन्हें पूरे भारत का सफर करने को प्रेरित किया।

पिता ने किया यह मुमकिन

राणा अपनी हिम्मत का श्रेय अपने पिता, किशन को देते हैं। प्रदीप घूम सके इसके लिए उनके पिता ने अपनी जमीन का एक हिस्सा बेच दिया। उनके पिता कहते हैं, 'सभी को अपने बच्चों के सपनों को पूरा करने में उनका साथ देना चाहिए। मेरे बच्चे ने बड़ा सपना देखा है और उसे पूरा करने के लिए मैं हर संभव प्रयास करूंगा।'


ब्यूरो रिपोर्ट

अंजुम कादरी


  Similar Posts

Share it
Top