WTN न्यूज डेस्क उत्तराखण्ड : पब्लिक स्कूल एसोसिएशन ने यमुनानगर में छात्र द्वारा महिला प्रिंसिपल की हत्या किए जाने का किया विरोध

2018-01-28 16:44:49.0

ऊधमसिंह नगर/सितारगंज : 27 जनवरी को सितारगंज पब्लिक स्कूल एसोसिएशन की बैठक एस एम पब्लिक स्कूल सितारगंज में संपन्न हुई l


बैठक में एसोसिएशन के सभी सदस्यों ने यमुनानगर में स्वामी विवेकानंद स्कूल में छात्र द्वारा अपने पिता की लाइसेंसी पिस्तौल से प्रिंसिपल *ऋतु छाबड़ा* की हत्या किए जाने के कारण 2 मिनट का मौन रखकर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की l


एसोसिएशन की बैठक में 27 जनवरी को पूरे प्रदेश के निजी विद्यालयों द्वारा विद्यालयों को बंद रखकर प्रिंसिपल की हत्या का विरोध करने के बाद हुयी जिसके द्वारा एसोसिएशन ने राजपाल को पत्र लिखकर निजी विद्यालयों के मैनेजमेंट, टीचिंग स्टाफ व नान टीचिंग स्टाफ के लिए सुरक्षा कानून की मांग की है l


एसोसिएशन की बैठक में एसोसिएशन के अध्यक्ष भुवन चंद्र भट्ट ने कहा कि सरकार की संकुचित नीतियों के कारण देश भर के निजी विद्यालयों के मैनेजमेंट, टीचिंग स्टाफ व नान टीचिंग स्टाफ को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है l उन्होंने कहा कि सरकार की इन नीतियों के खिलाफ सितारगंज पब्लिक स्कूल एसोसिएशन संघर्ष का ऐलान करती है भुवन चंद्र भट्ट ने कहा कि सरकार द्वारा देश भर में छात्रों की सुरक्षा के लिए कानून बनाए जा रहे हैं और छात्रों को उनका अधिकार और सुरक्षा दिलवाने के लिए निजी विद्यालयों के मैनेजमेंट, टीचिंग स्टाफ व नान टीचिंग स्टाफ के अधिकारों का हनन हो रहा है और समस्त स्टाफ भय के साथ जी रहा है जिससे शिक्षा की दुर्दशा होती जा रही है


एसोसिएशन के सदस्यों ने राजपाल को लिखे गए पत्र में मांग की है कि दोषी को सजा दी जाए और पीड़ित परिवार को न्याय दिया जाए

एसोसिएशन ने कहा कि स्कूल में घटना किसी भी लापरवाही से हो तो प्रिंसिपल या स्कूल मैनेजमेंट को बिना किसी जांच के दोषी ठहरा दिया जाता है और उन्हे जेल में बंद कर दिया जाता है l

एसोसिएशन के अध्यक्ष भुवन चंद्र भट्ट ने यह भी कहा कि पहले महिलाएं टीचिंग प्रोफेशन में अपनी इज्जत समझती थी जिससे वह इस क्षेत्र में आती थी और उसीका उदाहरण है कि आज अधिकांश विद्यालयों में प्रिंसिपल व टीचिंग स्टाफ में महिलाओं की संख्या ज्यादा देखी जाती है लेकिन सरकार की गलत नीतियों के कारण आज महिलाये इस क्षेत्र में अपने आपको असुरक्षित महसूस करने लगीं है और इसी के चलते कई महिला टीचर्स इस क्षेत्र को छोड़ रही हैं

भट्ट ने अपने बयान में सरकार को निशाना बनाते हुए कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार यमुनानगर में महिला प्रिंसिपल की हत्या पर कोई बात करते नहीं नजर आई उन्होंने कहा कि हत्या के बाद हरियाणा सरकार की तरफ से किसी भी मंत्री या नेता का बयान नहीं आया ऐसे में यह साफ दिख रहा है कि सरकार द्वारा बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ अभियान सिर्फ वोट बैंक बढ़ाने के लिए चलाया जा रहा है l

पब्लिक स्कूल एसोसिएशन की इस बैठक में हिमाल्यन पब्लिक स्कूल चीनीमील, होली सीपीएँस स्कूल चीनीमील, ग्रीन वुड पब्लिक स्कूल, होली चिल्ड्रेन स्कूल, एस एम पब्लिक स्कूल व पूरे प्रदेश से लगभग 300 निजी स्कूलों के प्रतिनिधि मौजूद रहे
रिपोर्ट उत्तराखण्ड प्रदेश प्रभारी अंजुम कादरी

  Similar Posts

Share it
Top