जबलपुर: कादर खान की मौत का सच, सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही ये खबर

2017-06-22 22:31:45.0

जबलपुर: कादर खान की मौत का सच, सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही ये खबर

*पिछले काफी समय से अस्वस्थ हैं खान लगातार उड़ रही मौत की अफवाह*

जबलपुर। फिल्मों में अपने हर किरदार से अलग छाप छोडऩे वाले अभिनेता कादर खान को लेकर सुबह से फिर अफवाहों का दौर चल पड़ा है। सोशल मीडिया पर लगातार उनकी मौत की खबर वायरल हो रही है। गूगल पर इन्हें हजारों लोगों ने सर्च किया। सूत्रों का कहना है कि 79 वर्षीय खान पिछले करीब तीन साल से अस्वस्थ हैं। घुटनों में दर्द की वजह से वे चल नहीं पा रहे हैं। उनकी मौत की खबर महज एक अफवाह है। उनके चाहने वाले उनकी लम्बी उम्र की दुआ कर रहे हैं।

*कादर खान का जन्म काबुल में हुआ*

जानकार सूत्रों के अनुसार कादर खान का जन्म 12 नवंबर 1937 को अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था। कादर खान का बचपन बड़ी ही गरीबी में बीता। उनके पास पहनने के लिए चप्पल तक नहीं होते थे। बंटवारे के बाद उनका परिवार भारत आकर बस गया था। कादर खान के दो भाई थे जिनका बचपन में ही निधन हो गया था। कादर खान के जन्म के समय उनकी मां मुंबई आ गई थीं। कादर एक इंजीनियरिंग छात्र थे। पढ़ाई पूरी होने के बाद वो सिद्दिकी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में प्रोफेसर हो गए।

*पहली फिल्म दाग से की थी अभिनय की शुरुवात*

करीब 100 संवाद लिख चुके और तकरीबन 300 फिल्मों में धारदार अभिनय कर चुके कादर खान अभिनय को ही जीवन मानते हैं। शायद इसलिए ही वे इंजीनियरिंग छोड़कर इस विधा में गए। जानकार बताते हैं कि खान कॉलेज के समय में अभिनय में भाग लिया करते थे। एक बार दिलीप कुमार ने उनका अभिनय देखा जो उन्हें बहुत अच्छा लगा। इसके बाद दिलीप कुमार ने कादर खान से अपनी फिल्म में काम करने के लिए कहा। कादर ने सहर्ष सहमति दे दी। उनकी पहली फिल्म 'दाग' थी। इस फिल्म में कादर खान वकील की भूमिका में नजर आए थे।

*―रोटी के लिए लिखे थे डायलॉग्स*

जानकार बताते हैं कि कॉमेडी किंग कादर खान ने उस दौर की हिट रही फिल्म 'रोटीÓ के लिए डायलॉग्स लिखे थे। इस फिल्म के लिए मनमोहन देसाई ने उन्हें एक लाख 20 हजार रुपए की फीस दी थी। उस दौर में यह फीस बहुत बड़ी थी। कादर खान ने फिल्मों के अलावा कई टीवी शो में भी काम किया है। उनका शो 'हंसना मतÓ काफी लोकप्रिय हुआ था। कादर खान को एक कॉमेडियन के तौर पर जाना जाता है। कादर खान को 9 बार बेस्ट कॉमेडियन के लिए नॉमिनेट किया गया है।

*―फिलहाल व्हील चेयर पर*

जबलपुर निवासी रफीक खान के अनुसार कादर खान पिछले करीब तीन साल से कादर खान व्हील चेयर पर हैं। वह अब ज्यादा चल-फिर नहीं पाते हैं। तबीयत अक्सर नरम-गरम रहती है। उनके पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि कादर खान को घुटनों में समस्या है। उन्होंने ऑपरेशन करवाया था लेकिन वह पूरी तरह सफल नहीं हुआ। घुटनों में समस्या अब भी बरकरार है।

*-हो गया दिमाग का दही*

बताया गया है कि कादर खान वर्ष 2015 में आई फिल्म 'हो गया दिमाग का दही में आखिरी बार मीडिया के सामने आए थे। इसके बाद वह किसी शो या फिर स्टेज पर नजर नहीं आए। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि अब उम्र हो चली है। उनके अभिनय के लायक अब काम नहीं मिल रहा है। उल्लेखनीय है कि कादर खान कई फिल्मों में राइटर के तौर पर भी काम कर चुके हैं।

*मौत की अफवाहों से प्रशंसको में निराशा*

फैंस में निराशा सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रही कादर खान की मौत की खबर से उनके फैन निराश हैं। जबलपुर निवासी रफीक खान ने तो कादर खान के परिवार जनों से संपर्क भी किया और बताया कि कादर खान पूरी तरह स्वस्थ हैं। बस केवल वे ज्यादा चल-फिर नहीं पा रहे हैं। फैंस उनकी लम्बी उम्र की दुआ कर रहे हैं। उन्होंने झूठी खबर फैलाने वालों से भी आग्रह किया है कि इस तरह की अफवाह नहीं फैलाएं। इससे कादर खान के चाहने वालों का दिल दुखी हो रहा है।



ब्यूरो रिपोर्ट
अंजुम कादरी

  Similar Posts

Share it
Top