जब पति ही करे अपनी बीवी का सौदा ?

2016-07-14 15:25:54.0

जब पति ही करे अपनी बीवी का सौदा ?

लखनऊ प्रेम जाल मॆं फँसा ढाई साल तक किया शारीरिक शोषण,पैसे ऐंठें और अब बेसहारा छोड़ दिया।। लखनऊ। राजधानी मॆं एक युवक ने पहले तो युवती को प्रेम जाल मॆं फंसा कर रुपये ऐंठें बाद मॆं उसको बेसाहरा छोड़ दिया। कांशीराम कालोनी दरोगा खेडा के निवासी मनोज कुमार यादव ने अपने घर से थोड़ी दूर पर सिलाई बुटीक चलाने वाली मीना को अपने प्रेम्जाल मॆं फंसाया। मनोज खुद को मुख्यमंत्री निवास पर खुद को ड्राइवर बताता था। मीना का विश्वास जीतने के बाद मनोज ने उससे 5 फरवरी 2014 मॆं मंदिर मॆं शादी कर ली। शादी के कुछ दिन के बाद ही मनोज मीना से बार बार रुपयों की माँग करता गया।बुटीक से हुई आमदनी से वह उसको रुपये दिया करतीं थी। कभी रुपये ना होने पर मनोज उसको बेरहमी से मारता पीटता था। मीना को दो महीने का गर्भ भी हुआ था पर नर्सिंग हास्पिटल मॆं काम करने उसकी सास माया देवी ने धोके से उसका गर्भ गिरा दिया तथा खाने मॆं मिलाकर ऐसी दवा दें दी जिससे वो कभी माँ ना बन सके। मनोज रोज़ उसके साथ जबरदस्ती शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिये बेल्ट तक से मारता पीटता था। एक दिन मनोज ने अपनी नौकरी मॆं प्रोमोशन के लिये पत्नी मीना को अपने साहब के पास रात मॆं भेजना चाहा पर मीना ने मना कर दिया जिसके कारण उस दिन मनोज ने गुस्से मॆं उसको जान से मारने का प्रयास किया। मनोज ने करीब आठ महीने तक मीना को बंधक बनाकर एक कमरे मॆं रखा तथा बेरहमी की सारी हदें पार कर दी। मनोज एक दिन मीना को धोखे से उसके मायके छोड़ दिया और कुछ दिन के बाद ही मीना को तलाक का नोटिस भिजवा दिया। नोटिस मॆं मनोज ने मीना के ऊपर सम्पति को हड़पने का आरोप लगाया। 30 मार्च को रुपये ना देने पर मीना को मनोज ने बेरहमी से मारा तथा उसकी कलाई पर दाँत से काट लिया जिससे उसका उतनी जगह का माँस निकल गया। मामले की शिकायत करने मीना सरोजिनी नगर थाने गई जहाँ उससे प्रार्थना पत्र लें लिया गया किंतु कोई कार्रवाही नही हुई। 2 अप्रैल को मीना ने एसएसपी कार्यालय मॆं गुहार लगाई जहाँ उसका मनोज के साथ 16 अप्रैल को सुलह करवा दिया गया। दस दिन तक ठीक रहा पर फिर स्थिति पहले की तरह हो गई। तब से मीना थाने से लेकर एसएसपी कार्यालय के चक्कर काट रही है पर अभी तक कोई कार्रवाही नहीं हो पाई है ।

  Similar Posts

Share it
Top