स्वामी प्रसाद मौर्या के पार्टी छोड़ने पर मैडम का महत्त्वपूर्ण बयान:

2016-06-22 14:49:02.0

स्वामी प्रसाद मौर्या के पार्टी छोड़ने पर मैडम का महत्त्वपूर्ण बयान:

वूमेन टाइम्स ब्यूरो मैं बहुत ख़ुश हूँ की स्वामी प्रसाद मौर्या ने Bsp को छोड़ कर पार्टी पर उपकार किया है , नहीं तो कुछ दिन बाद इनको पार्टी बाहर का रास्ता दिखाने वाली थी , स्वामी इससे पहले मुलायम सिंह के साथ लोक दल में रहे उसके बाद जनता दल और इधर उधर भटक रहे थे लेकिन Bsp के उभरते ही इन्होंने अपने फ़्यूचर को बनाने के लिए Bsp आगाए लेकिन मुलायम सिंह जैसा परिवार वाद वाला मोह नहीं गया ,स्वामी प्रसाद चुनाव हार गए थे लेकिन मैंने लोगों के कहने पर जगह दी , लेकिन वो 2012 में परिवार को आगे बढ़ाने ke लिए लग गए तब मैंने माना किया , लेकिन उसके बाद भी इनके लड़के और लड़की दोनो को टिकट दिया गया , मैं इसके पक्ष में नहीं थी लेकिन पार्टी के लोगों ने कहा स्वामी की बात मान लिया जाय तब मैं मान गयी लेकिन ये फिर ये 2014 में भी परिवार को टिकट देने की बात कहने लगे । मैंने कांशीराम जी के जीवन से प्रेरणा ली थी की परिवार वाद को आगे नहीं बढ़ाऊँगी , मैंने अपने परिवार को राजनीति से दूर रखा लेकिन स्वामी प्रसाद पर अलग अलग पार्टियों का रंग चढ़ा है , बीच बीच में मैं इनको टोकती रही , स्वामी ने पैसे का आरोप लगाया की मैं पैसे पर टिकट देती हूँ तो वी बताए की उन्होंने अपने लिए अपने बेटी और बेटे के लिए कितना पैसा दिया है , स्वामी प्रसाद मौर्या हमेशा बच्चों के टिकट के लिए पैरवी करते रहे , मैंने उनसे कहा की आप को वोहदा दिया है लेकिन अब आप के बच्चों को टिकट नहीं दे पाऊँगी मैंने स्वामी से कहा की जो पार्टी आप को और आप के बच्चों को टिकट देती है उसमें आप जा सकते हैं , पूरी छूट है स्वामी प्रसाद मौर्या केवल परिवार वाद के चक्कर में गया है जो भी पार्टी छोड़ कर गया केवल एक आरोप लगाया की मायावती पैसा लेती है कोकी उसके पास कोई और मुद्दा ही नहीं होता है इस लिए मुझे दौलत की बेटी बोलता है मेरे माता पिता ने नाम मायावती रखा है तो मुझे क्या कमी है स्वामी प्रसाद मौर्या के बच्चे उनके कंट्रोल नहीं है मुलायम सिंह यादव की पार्टी में ऐसा होता की उनके बच्चे उनके बच्चों के बच्चे और सभी बच्चे हुए बच्चे को पहले टिकट देते हैं फ़ोर किसी के बारे में सोचती हैं ,जैसा पता चल रहा है की स्वामी प्रसाद उसी पार्टी में जा रहे हैं जहाँ परिवार वाद को बढ़ावा मिलता है मैंने उन सबको निकाल दिया जो स्वामी के साथ थे

  Similar Posts

Share it
Top