लखनऊ के दवा व्यवसाई मुकेश मिश्रा हत्याकांड में आया नया मोड़ देखे खास रिपोर्ट

2018-03-12 11:53:19.0

लखनऊ के दवा व्यवसाई मुकेश मिश्रा हत्याकांड में आया नया मोड़ देखे खास रिपोर्ट

लखनऊ ब्यूरो रिपोर्ट हमारी स्पेशल टीम ने मृतक मुकेश मिश्रा की पीड़ित पत्नी सारिका मिश्रा से जानकारी ली तो उन्होंने अवगत कराया विगत 7 माह पूर्व लगभग पति मुकेश मिश्रा की हत्या कर दी गई थी जिसमें परिवारीजन करुणेश मिश्रा व अन्य उनके बेटों से प्रॉपर्टी रंजिश के चलते विवाद चल रहा था इस बात को प्रशासन के संज्ञान में डालने पर परिवारीजन जान के दुश्मन बन बैठे और मेरी हत्या का भी षड्यंत्र रचने लगे विगत 7 माह में शासन-प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री तक का दरवाजा खटखटाने के बाद भी अभी तक कोई संतोषजनक कार्यवाही नहीं हुई और उधर परिवारीजन ने बैंक में जमा पैसे पर रोक लगवा दी जिससे मेडिकल स्टोर के बकायादारों ने उधारी का पैसा ना दिए जाने को चलते माल देना भी बंद कर दिया और पैसे के लिए आए दिन दुकान पर अपने कर्मचारियों को भेजने लगे l
पति मुकेश मिश्रा ने एक बीमा जीवन संगिनी के नाम से करवाया था उसके क्लेम पर भी परिवारीजन ने रोक लगवा दी और प्रॉपर्टी में अधिकारियों से सांठगांठ करके नाम निकलवाने की कवायद शुरू कर दीl आरोपियों के हौसले इतने बुलंद हैं की इतने पर भी दिनांक 11/3/ 2018 को थाना जानकीपुरम में जाकर थाना अध्यक्ष पी के झा से गाली गलौज शुरू कर दी और थाने पर दबाव बना रहे हैं मेडिकल स्टोर पर कब्जा करवाने का अब सवाल यह उठता है की पति की हत्या हो जाने पर प्रशासन विभाग अभी तक किस तरह की जांच कर रही है की अभी तक अपराधी पकड़े नहीं गए पति की हत्या के बाद पति के द्वारा दुकान की देनदारी पूरी करने के लिए बैंक में जमा पैसे पर आखिर किसका अधिकार ?
पति के द्वारा कराई गई जीवन बीमा पॉलिसी के पैसों पर किसका अधिकार?
पति की जायजाद पर किसका अधिकार?
इस तरह के कई सवाल जो कहीं ना कहीं अपराधियों से प्रशासन की सांठगांठ की ओर इशारा करते हैंl
थाना अध्यक्ष जानकीपुरम पी के झा ने बताया करुणेश मिश्रा, रामसमुझ मिश्रा ,राकेश मिश्रा, और दीपक मिश्रा थाने में आए थे और मृतक मुकेश मिश्रा के मेडिकल स्टोर पर कब्जा करवाने की बात करने लगे जब मैंने माननीय न्यायालय जाने की बात कही तो अशब्द भाषा का प्रयोग करने लगे और गाली गलौज करते हुए चले गए l
सारिका मिश्रा ने बताया 7 महीने में अभी तक बार बार धमकियां मिल रही हैं अगर मेरे साथ कोई भी घटना घटती है तो करुणेश मिश्रा व उनके बेटे , राकेश मिश्रा, दीपक मिश्रा ,रामसमुझ मिश्रा मनोज मिश्रा ही घटना को अंजाम देंगे और पूर्ण रूप से प्रशासन जिम्मेदार होगी नारको टेस्ट में विपक्षियों के दबाव के चलते जानकारी में फेरबदल किया गया इसके चलते कोई ठोस सबूत हाथ नहीं लगे सारिका मिश्रा सीबीआई के द्वारा जांच करवाने की मांग कर रही हैं और CM से मुलाकात कर अपना प्रकरण माननीय मुख्यमंत्री के सामने रखने की बात कही
प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखे जाने के बाद अब सारिका मिश्रा जल्द ही मुख्यमंत्री से मिलेंगी

  Similar Posts

Share it
Top