भारतेंदु हरिश्चंद्र वार्ड पार्षद प्रत्याशी शफीकुननिशा से विकास के मुद्दे पर खास वार्ता -आर्य खान के साथ

2017-10-16 16:06:48.0

भारतेंदु हरिश्चंद्र वार्ड पार्षद प्रत्याशी शफीकुननिशा से विकास के मुद्दे पर खास वार्ता -आर्य खान के साथ

सवाल -अगर जनता ने आपको पार्षद के रूप में चुना तो आप क्या विकास करेंगे |
सवाल -अगर जनता ने आपको पार्षद के रूप में चुना तो आप क्या विकास करेंगे |
प्रत्याशी -अगर जनता ने विकास के मुद्दे पर हम पर भरोसा किया तो हम प्राथमिक आवश्यकताएं जैसे बिजली पानी रोड जैसे मुद्दों पर कार्य करेंगे और जनता का विश्वास टूटने नहीं देंगे |
सवाल- वार्ड में प्राथमिक स्तर पर किस तरह की खामियां है |
प्रत्यासी- प्राथमिक विद्यालय जो कि वार्ड में है वहां पर 180 से 220 तक बच्चे पढ़ते हैं सामने कूड़े का ढेर लगा हुआ है और जानवर चरते रहते हैं कभी भी कोई अप्रत्याशित घटना घट सकती है पानी कभी आता है कभी नहीं आता है पार्षद के पास जाओ तो वह सुनता नहीं है|
सवाल -पार्षद क्या कहते हैं |
प्रत्याशी- वह कहते हैं आप लोगों ने हमें नहीं जीताया है जिस को जिताया हो उससे विकास की बात करो जाकर अगर पार्षद वो है अधिकार क्षेत्र उनका है तो हम उन्हीं से तो कहेंगे ना भारतीय जनता पार्टी के पार्षद शायद जातीय समीकरण के चलते काम नहीं कराते हैं|
सवाल -समाजवादी पार्टी से आप मजबूत दावेदार हैं क्या आपको लगता है पार्टी आप पर विश्वास करेगी और आपको टिकट देगी| प्रत्याशी -निश्चित ही पार्टी हम पर पूर्ण विश्वास करेगी और हमें प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में इस बार उतारेगी बाकी जैसा भी पार्टी आदेश करेगी हम वैसा करेंगे| -अगर जनता ने विकास के मुद्दे पर हम पर भरोसा किया तो हम प्राथमिक आवश्यकताएं जैसे बिजली पानी रोड जैसे मुद्दों पर कार्य करेंगे और जनता का विश्वास टूटने नहीं देंगे |
सवाल- वार्ड में प्राथमिक स्तर पर किस तरह की खामियां है |
प्रत्यासी- प्राथमिक विद्यालय जो कि वार्ड में है वहां पर 180 से 220 तक बच्चे पढ़ते हैं सामने कूड़े का ढेर लगा हुआ है और जानवर चरते रहते हैं कभी भी कोई अप्रत्याशित घटना घट सकती है पानी कभी आता है कभी नहीं आता है पार्षद के पास जाओ तो वह सुनता नहीं है| सवाल -पार्षद क्या कहते हैं प्रत्याशी वह कहते हैं आप लोगों ने हमें नहीं जीताया है जिस को जिताया हो उससे विकास की बात करो जाकर अगर पार्षद वो है अधिकार क्षेत्र उनका है तो हम उन्हीं से तो कहेंगे ना भारतीय जनता पार्टी के पार्षद शायद जातीय समीकरण के चलते काम नहीं कराते हैं|
सवाल -समाजवादी पार्टी से आप मजबूत दावेदार हैं क्या आपको लगता है पार्टी आप पर विश्वास करेगी और आपको टिकट देगी| प्रत्याशी -निश्चित ही पार्टी हम पर पूर्ण विश्वास करेगी और हमें प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में इस बार उतारेगी बाकी जैसा भी पार्टी आदेश करेगी हम वैसा करेंगे|

  Similar Posts

Share it
Top